भारत में ड्रोन का  महत्त्व और  इसका  फ्यूचर(Future) आओ जाने:

ड्रोन Drone क्या है?

ड्रोन शब्द विविध अर्थों में प्रयोग किया जाता है ,वर्तमान समय में यह विभिन्न  आकार, प्रकार वाले और कई प्रकार के कार्यों के लिए प्रयोग किए जाने वाला एक चालक रहित विमान  है जिसको हम ड्रोन के नाम से जानते हैं  जिसको रिमोट के जरिए दूर से ही  नियंत्रित किया जा सकता  है ।

ड्रोन के प्रकार:

1- मानवरहित ड्रोन

2- कृषि ड्रोन

3- फोटोग्राफी ड्रोन

3- सेना ड्रोन

वर्तमान समय में ड्रोन का महत्व:

किसी भी देश की उन्नति में उस देश की टेक्नोलॉजी और अधिक आधुनिकतम उपकरण वहां की प्रगति को आगे बढ़ाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। वर्तमान समय में हर एक देश एक दूसरे से आगे निकलना चाहता है। परंतु इन सब के बीच कुछ मुख्य और महत्वपूर्ण उपकरणों के बिना किसी भी देश की उन्नति संभव नहीं हो सकती है। 

आज से कुछ दशक पहले विश्व में अपनी बातों को आदान -प्रदान करने के लिए टेलीफोन का सहारा लिया जाता था, परंतु समय बीतने के साथ उसमें बदलाव आया और आज वर्तमान समय में टेलीफोन की जगह नए नए मोबाइल फोनों ने ले ली और दैनिक कार्यों को सुगम बना दिया यहां तक कि लोगों के जीवन पर भी इस  नए उपकरणों ने अपनी गहरी छाप छोड़ी है। वर्तमान समय टेक्नोलॉजी का समय है जिसमें छोटी सी छोटी मशीन से लेकर बड़े-बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर तक में मशीनों का सहारा लिया जा रहा है जिससे दुनिया में नई  कायापलट देखने को मिल रही है। 

आज से कुछ साल पहले की ही बात करें तो शहरों का जो विकास बीते एक शताब्दी में नहीं हो पाया था वह कुछ 1 सालों में ही हो गया इसमें मुख्य भूमिका आधुनिक मशीनों के साथ-साथ छोटे से बड़े उपयोग में आने वाले उपकरणों ने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है इन्हीं उपकरणों में से एक है ड्रोन जिसने कि अभी अपनी शुरुआत ही की है और अपने शुरुआती चरण में ही इसने करोना महामारी के समय न सिर्फ दवाइयों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजने में अपनी भूमिका निभाई है बल्कि चाहे वह कृषि कार्य हो चाहे वह देश की सीमाओं को सुरक्षित रखने के कार्य हो या फिर खाने के सामान को एक दूसरे एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने के कार्य हो सब में सभी क्षेत्रों में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका को देखते हुए इनका विकास भी मोबाइल फोन की तरह निरंतर विकसित होता जा रहा है आने वाले कुछ ही सालों में इसका फ्यूचर काफी ज्यादा अच्छा होने वाला है क्योंकि विश्व के सभी बड़े देशों ने ड्रोन को अपने हर क्षेत्र में शामिल करने के लिए इसकी महत्व को समझते हुए इस पर कार्य करना चालू कर दिया है और कई देश तो जैसे- अमेरिका जापान चीन आदि में कई काम कार्यों के लिए डॉन तकनीक का सहारा लिया जा रहा है।

 

जहां तक भारत देश की बात है भारत में भी ड्रोन की महत्व को समझते हुए इसके  स्वदेशी निर्माण और  इसके हर क्षेत्र में उपयोगिता को ध्यान में रखते हुए नई ड्रोन तकनीक को विकसित और इसका निर्माण करने के लिए सरकार  अपनी पूर्ण मंजूरी दे दी है आने वाले समय में हम ड्रोन तकनीक को भारत देश में कृषि क्षेत्र में मेडिसिन क्षेत्र में सुरक्षा क्षेत्र में एजुकेशन क्षेत्र में ट्रांसपोर्ट क्षेत्र में आदि सभी क्षेत्रों में इसकी उपयोगिता शामिल होगी और भारत देश तेजी से विकास कर सकेगा।

 

क्या है ड्रोन तकनीक आओ जाने:

ड्रोन एक प्रकार की मशीन है जिसे मानव संचालित करता है या यूं कहें कि ड्रोन एक मानव रहित विमान  है, जिसे हम शॉर्टकट में UAV  के नाम से भी जानते हैं यह मूल रूप से एक उड़ने वाला रोबोट है। इसे दूर से नियंत्रित किया जा सकता है। सॉफ्टवेयर- नियंत्रित सिस्टम के जरिए उड़ान भर सकता है। ड्रोन तकनीक लगातार विकसित हो रही है इसलिए इसके कल पुर्जों में भी तकनीकी बदलाव लगातार हो रहा है जिससे इनके आकार प्रकार मैं भी काफी भिन्नता देखी जा रही है ड्रोन के आकार इसलिए आज छोटे से लेकर बड़े बड़े कार्यों के लिए इनकी उपयोगिता के आधार पर दिन का निर्माण किया जा रहा है। 

आज हर क्षेत्र में हम ड्रोन तकनीक को देख रहे हैं आने वाले समय में इसकी महत्व बढ़ती ही चली जाएगी ऐसा वैज्ञानिकों का मानना है क्योंकि इस से कार्य सुगम और सरल हो जाएगा और कोई भी देश अपनी प्रगति में इस तकनीक से अपने को एक अलग मुकाम पर पहुंचा  सकता है।

 जहां तक बात की जाए  भारत ड्रोन तकनीकी तो भारत में इसका इस्तेमाल भारतीय सेना के अलावा मौसम की निगरानी, मौसम भविष्यवाणी, यातायात निगरानी, राहत और बचाव कार्य क्षेत्र, फोटोग्राफी ,ट्रांसपोर्ट के अलावा भी अन्य कई क्षेत्रों में अब होने लगा है और आने वाले समय में यह भारत में और भी अन्य क्षेत्रों में यह अपनी भूमिका निभाएगा जिससे कि देश की आर्थिक प्रगति में भी इसका महत्वपूर्ण योगदान होगा।

भारत में आधुनिक ड्रोन का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। इसके महत्व को देखते हुए  भारत सरकार ने भारत में ड्रोन के आधुनिकीकरण के लिए कई प्रकार के नए योजना और कार्यक्रम सुचारू रूप से चलाए जा रहे हैं और ड्रोन के निर्माण में आगे आने वाली कंपनियों को भी प्रोत्साहित कर रही हैं जिससे कि भारत में ड्रोन का  मैन्युफैक्चर प्रोडक्शन ज्यादा से ज्यादा हो सके और इनका उपयोग हर एक प्रकार के कार्यों में आसानी से किया जा सके।

 

भारत में ड्रोन के महत्व को इस बात से समझा जा सकता है कि आज के समय में चाहे वह भारत के आर्मी जवानों के लिए बॉर्डर पर नजर रखने के लिए इनके महत्व हो या फिर कृषि क्षेत्र में फसलों को और अधिक उन्नत और उपजाऊ बनाने के लिए और खेती के रखरखाव और उन पर समय समय पर निगरानी रखने के लिए ड्रोन का महत्व स्वता ही बढ़ता चला जा रहा है जोकि एक विकसित देश के रूप में भारत को आगे चलकर बहुत ही महत्वपूर्ण लाभ ड्रोन तकनीक के माध्यम से मिलेगा।

भारत में ड्रोन का महत्व कई मायनों में अपनी अहम भूमिका रखता है आइए इसके महत्व को कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं के द्वारा समझते हैं:

 

भारतीय सेना के लिए बहुत ही अहम है Swarm Drone ( स्वार्म ड्रोन):

भारतीय सेना के लिए Drones ड्रोन कितने महत्वपूर्ण हैं इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जम्मू कश्मीर जैसे बॉर्डर पर हाल ही में पाकिस्तान की तरफ से कई प्रकार के ड्रोन भेजकर भारतीय सेना  के ऊपर हमले करने संबंधित व खुफिया जानकारी एकत्र करने संबंधित  कई महत्वपूर्ण मुद्दे सामने आकर खड़े हो गए हैं।

 ऐसे में भारतीय सेना ने भी अपनी कमर कस ली है और इस बार सेना दिवस की परेड के दौरान भारतीय सेना ने 75 स्वदेशी तकनीकी से निर्मित भारतीय स्वर्ण रोड को सार्वजनिक रूप से प्रदर्शित किया है यह स्वर्ण रोल पूरी तरह से भारत में बनाए गए हैं और इनमें विशेष प्रकार के आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एआई तकनीकी का इस्तेमाल किया गया है जिससे यह ना सिर्फ केवल दुश्मनों की तरफ से भेजे जाने वाले किसी भी ड्रोन को मार गिराने में सक्षम होंगे बल्कि आवश्यकता पड़ने पर यह उन Drone को 500 मीटर की दूरी से ही नष्ट भी कर सकते हैं ।

 

 

भारतीय कृषि में आधुनिक DRONE  का महत्वपूर्ण योगदान:

भारत एक कृषि प्रधान देश है जहां पर गेहूं , धान, तिलहन, और दलहन कई प्रकार की फसलों का उत्पादन प्रचुर मात्रा में होता है। भारत में अनियमित वर्षा और सूची जैसी समस्याओं से निपटने के लिए ड्रोन तकनीक का सहारा लिया जा रहा है  वर्तमान समय में अब नया किसान वर्ग जिनके पास ड्रोन तकनीक का ज्ञान है वह अपनी खेती करने के लिए आधुनिक ड्रोन तकनीक का सहारा ले रहे हैं इसका सबसे बड़ा उदाहरण कृषि अनुसंधान केंद्र के वैज्ञानिकों द्वारा हाल ही में दिया गया है जिसमें आधुनिक ड्रोन तकनीक से खेतों की सिंचाई से लेकर खाद की बुवाई तक का काम सुचारू और सटीक तरीके से करके फसलों की पैदावार को दोगुना कर सभी को चौंका दिया है ऐसे में आने वाले समय में भारतीय किसान अपनी खेती बाड़ी के लिए आधुनिक तकनीक का सहारा लेकर अपनी फसल को और उन्नत और  अधिक मात्रा में उपज को बढ़ाकर अपनी फसल का 2 गुना लाभ प्राप्त कर सकेंगे।

ट्रांसपोर्टेशन सिस्टम वो बेहतर बनाने में ड्रोन का योगदान:

भारत में एक स्थान से दूसरे स्थान तक  जरूरी दवाएं, खाने पीने की सामानों को  एक सीमित समय में पहुंचाने के लिए अब कई कंपनियां बढ़-चढ़कर ड्रोन का सहारा  ले रही हैं जिनमें से अमेजॉन कंपनी ने हाल ही में अपने कस्टमर तक सामान को पहुंचाने के लिए उन्नत किस्म के डॉन का सहारा देकर अपने कस्टमर तक सामान को पहुंचाने में सफलता हासिल की है ऐसे में आने वाले समय में भारत में ड्रोन का प्रोडक्शन मैन्युफैक्चरिंग निर्माण तेजी से बढ़ने वाला है और इसका इस्तेमाल जरूरी दवाओं को एक स्थान से दूसरे स्थान को भेजने के लिए इस्तेमाल करके समय और धन दोनों की बचत आने वाले समय में हो सकेगी।

 

कोरोना महामारी के समय में भारत में इस प्रकार के कई ट्रायल सफल हुए हैं जिनमें दवाओं को निर्बाध तरीके से एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाने के लिए ड्रोन तकनीक का सहारा लिया गया और यह तकनीकी सफल रही है ऐसे में आने वाले समय में भारत में ड्रोन का क्रेज तेजी से बढ़ने वाला है और इसके महत्व को समझते हुए भारत सरकार ने भी Drone ड्रोन प्रोडक्शन और इसके इस्तेमाल होने के लिए अपनी तरफ से कई प्रकार के दिशा निर्देश भी जारी कर दिए हैं जो कि आने वाले समय में प्रत्यक्ष दिखाई देंगे जिनका लाभ संपूर्ण भारत देश की जनता को होगा।

Rate this post

Leave a Comment